UttarPradesh

गार्ड ने रची थी 2.60 लाख की लूट की साजिश

इस छोटी से गलती से खुला राज,गार्ड ने रची थी 2.60 लाख की लूट की साजिश

उत्तर प्रदेश के जौनपुर में बैंक के एक गार्ड से हुई दो लाख 60 हजार की लूट का पुलिस ने खुलासा कर दिया. पुलिस के मुताबिक, इस लूट को किसी शातिर बदमाश ने अंजाम नहीं दिया था. बल्कि बैंक के गार्ड ने ही इस पूरी घटना की साजिश रची थी.

ये था मामला..
घटन बीते आठ सितंबर की है. जब रात करीब नौ बजे जौनपुर जिले के बरसठी थाना क्षेत्र के पल्टूपुर गांव के पास बैंक के गार्ड सुरेश कुमार गौतम निवासी भन्नौर से दो लाख 60 हजार लूट को अंजाम दिया गया. सुरेश कुमार से एक मोटर साइकिल पर सवार दो बदमाशों ने इस लूट को अंजाम दिया. लूट की खबर मिलते ही स्थानीय पुलिस के अलावा क्राईम ब्रांच की टीम भी मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल शुरू कर दी.

ऐसे हुआ लूट का खुलासा
पीड़ित बैंक के गार्ड सुरेश ने पुलिस को तहरीर दी कि अज्ञात बदमाशों ने उससे दो लाख 60 हजार रुपये और उसका मोबाइल छीन फरार हो गए. पुलिस ने लूट का केस दर्ज कर लुटेरों की तलास शुरू कर दी. जांच पड़ताल में पता चला कि पीड़ित ने जिस मोबाइल को लूटे जाने की एफआईआर दर्ज कराई है, वह तो पीड़ित के पास ही है. पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की तो उसने सारा सच उगल दिया. पुलिस का मानना है कि अगर सुरेश अपने एफआईआर में मोबाइल के लूटे जाने की बात नहीं लिखाता तो शायद पता नहीं लगता कि इस साजिश के पीछे उसका हाथ है.

इस वजह से रची थी साजिश
सुरेश ने पुलिस को बताया कि उसने गांव के एक लोग से कुछ रुपयों का कर्ज लिया था. वो आए दिन उससे पैसा वापस मांग रहा था. सुरेश ने बताया कि मेरे पास उसे देने के लिए पैसे नहीं थे, इसलिए हमने इस लूट की झूठी कहानी बनाई. इसके माध्यम से जहां मैं कर्जदार से बचना चाहता था. वहीं अपने पड़ोसी से चली आ रही जमीनी रंजीश के कारण उसे भी इस लूटकांड में फंसाना चाहता था.

क्या कहना है पुलिस का
एसपी केके चौधरी ने बताया कि बैंक के गार्ड सुरेश ने अपने पड़ोसी दुश्मन को फंसाने और उधार के रुपये न देने के लिए झूठी लूट की कहानी बनाकर मुकदमा दर्ज कराया था. पुलिस ने इस मामले में आरोपी सुरेश और उसके सहयोगी अजय कुमार, बबलू और सरोज को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है.

About the author

Related Posts

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.